Homeदेश विदेश ,खास खबरे,slider news,
सोने के मंडप में होगी अंत्येष्टि, 585 करोड़ होंगे खर्च

बैंकॉक। थाईलैंड के दिवंगत राजा भूमिबल अदुल्यादेज की अंत्येष्टि 26 अक्टूबर को बैंकॉक में होगी। पिछले वर्ष 23 अक्टूबर को 87 वर्ष की उम्र में उनका निधन हो गया था। इसके बाद एक साल का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया था। भूमिबल ने थाईलैंड पर सात दशक तक राज किया।

उनके नाम सबसे लंबे समय तक राज करने का रिकॉर्ड था। वह जनता के प्रति बेहद समर्पित थे। यहां के चकरी राजवंश को भगवान विष्णु का जीवित अवतार भी माना जाता है। -शाही अंत्येष्टि की तैयारियां पिछले एक साल से की जा रही हैं। सैन्य सरकार ने इसके लिए करीब 585 करोड़ (नौ करोड़ डॉलर) का बजट रखा है।

राजमहल के सामने हजारों कारीगरों ने स्वर्ण जड़ित मंडप का निर्माण किया है। अंत्येष्टि स्थानीय समयानुसार रात 10 बजे यहीं होगी।

-मंडप के मुख्य डोम को मेरू पर्वत नाम दिया गया है। मालूम हो, हिंदू धर्म में मेरू पर्वत को ब्रह्माजी का निवास स्थान कहा गया है। इसकी लागत 195 करोड़ रुपए आई है। यह 165 फीट ऊंचा है। शाही श्मशान घाट को 2 से 30 नवंबर तक लोग भी देख सकेंगे।

-अंतिम यात्रा के लिए 200 साल पुराना शाही रथ भी तैयार है। यह सूर्य का प्रतीक है।

-अंतिम संस्कार के दिन देश में राष्ट्रीय अवकाश रहेगा। बैंकॉक के सारे होटल बुक हो गए हैं। इस दिन सभी सार्वजनिक परिवहन भी मुफ्त रहेगा। आयोजन 25 से 29 अक्टूबर तक चलेंगे।

-आयोजन के दौरान मुखौटे पहने कलाकारों का ड्रामा, पपेट शो, रामायण की कथाएं कही जाएंगी।

-शनिवार को अंतिम यात्रा के लिए पूर्वाभ्यास किया गया। ड्रम और बैंड के बीच काली टोपी और प्राचीन परिधान पहनकर अधिकारी शामिल हुए। इसमें पांच घंटे लगे।

-अंतिम संस्कार के दौरान कई देशों के राष्ट्राध्यक्षों समेत ढाई लाख लोगों के मौजूद रहने की संभावना है। देशवासियों के लिए उस दिन काले कपड़े पहनना अनिवार्य रहेगा।

- इसी दिन राजा के बेटे महा वाजिरालोंगकार्न सत्ता संभालेंगे।

Share This News :