Homeवायरल न्यूज़,
खुद को 'छठा अवतार’ बताकर किसान बोला, खेत में गड़ा है खजाना

 मप्र में मुरैना के पोरसा ब्लाक के छोटापुरा गांव के रहने वाले विद्याराम ने अपने खेत में दबे खजाने को निकालने के लिए दिल्ली की एक एजेंसी के जरिए प्रशासन से खुदाई की अनुमति मांगी है। जिला प्रशासन ने कंपनी के पत्र के आधार पर ग्रामीण को मुरैना बुलाया, जहां पुरातत्व विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में बातचीत हुई।

अधिकारी उस वक्त चौंक गए, जब विद्याराम ने खुद को महाभारत युग में हुए राजा नल का छठा अवतार बताया। 31 मई को भेजे पत्र में एजेंसी चाहती है कि उसे मानसून से पूर्व यानी 20 जून से पहले खुदाई की अनुमति मिल जाए। खजाना गड़े होने का दावा पांच साल पहले उप्र के उन्नाव में साधु शोभन सरकार ने भी किया था।

विद्याराम ने यह दावा सबसे पहले साल 2006 में किया था। यहां प्रशासन ने जांच करवाई, लेकिन संसाधनों की कमी से काम अधूरा रह गया था। जांच को हैरिटेज कंजर्वेशन और खुदाई के लिए अधिकृत दिल्ली की कंपनी मुकेश गुप्ता एंड कंपनी ने अंजाम दिया था।

कंपनी ने साल 2016 और 2017 में प्रशासन को पत्र लिखकर यहां खजाना होने की बात कही। इसके बाद एक बार फिर 31 मई को कंपनी ने प्रशासन को पत्र लिखकर कहा कि यहां खजाना हो सकता है। कंपनी ने भारतीय ट्रेजर एक्ट 1878 के प्रावधनों के तहत खजाना मिलने पर 40 फीसदी सरकार को 30 फीसदी विद्याराम को और 30 फीसदी खुद रख लेने का प्रस्ताव दिया है।

Share This News :