Homeदेश विदेश ,
किम जोंग उन को ट्रंप पर नहीं था भरोसा, जहर के डर से पेन तक नहीं किया यूज

कभी एक दूसरे को फूटी आंख न सुहाने वाले दुनिया के दो राष्ट्राध्यक्षों का दिल मुलाकात के बाद ऐसा बदल गया है कि अब दुनिया हैरान है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग की मुलाकात को ऐतिहासिक करार दिया जा रहा है. हालांकि  इस मुलाकात ऐसे कई पल आए, जिससे पता चलता है कि दोनों नेता एक दूसरे के व्यवहार को लेकर शं‍कित थे.इस मुलाकात में सबसे अहम बात रही दोनों नेताओं द्वारा दोनों देशों के रिश्तों के बेहतर बनाने के लिए एक समझौते पर साइन करना. हालांकि इसी दौरान एक घटना घटी जिससे साफ पता चलता है कि इस मुलाकात के दौरान उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन हर कदम फूंक फूंक कर रख रहे थे.ऐसे में जब समझौते पर साइन करने के बारी आई तो दोनों नेताओं के सामने शार्पी पेन रखा गया. अमेरिका की तरफ से रखे गए इस पेन को सबसे पहले किम के एक सिक्योरिटी गार्ड ने आकर अच्छे से साफ किया. बल्कि किम की बहन ने आकर उन्हें एक अलग पेन दिया जिससे किम ने दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए. आपको बता दें कि किम की बहन उनकी सुरक्षा का जिम्मा भी देखती है.ऐसे में पेन को साफ करवाकर भी इस्तेमाल नहीं करने के पीेछे कई थ्योरिया सामने आ रही है. डेली मेल के अनुसार किम को अपने डीएनए के सार्वजनिेक हो जाने का डर है, या फ‍िर उन्हें जर्मोफोबिया या फ‍िर उन्हें डर था कि पेन में जहर हो सकता है.आपको बता दें ये पेन अमेरिका की तरफ से दस्तावेजों के साथ दोनों नेताओं के सामने रखे गए थे. वहीं खबर है कि किम अपने साथ पोर्टेबल टॉयलेट  भी लेकर सिंगापुर पहुुंचे थे. इसके पीछे भी किम की सहूलियत कम, उसकी सुरक्षा का कारण ज्यादा था. दरअसल, पोर्टेबल टॉयलेट इसलिए ले जाया गया था, ताकि किम जोंग के स्टूल यानि मल की किसी तरह की जांच न की जा सके या उस पर किसी तरह का परीक्षण न किया जा सके.

Share This News :