Homeराज्यो से ,
मंहगाई ने तोड़ी कमर ,पिछले साल के मुकाबले दोगुनी हुई महंगाई दर

पेट्रोल और डीजल व सब्जि‍यों के दाम बढ़ने से मई महीने में थोक मूल्य आधारित महंगाई बढ़कर 14 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. सरकार की तरफ से जारी डाटा के मुताबिक मई में थोक महंगाई दर (WPI) 4.43 फीसदी पर पहुंच गई है. इससे पहले अप्रैल में यह 3.18 फीसदी पर थी.  पिछले साल मई महीने में यह 2.26 फीसदी पर थी.थोक महंगाई दर से पहले आए आंकड़ों के मुताबिक उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधार (CPI) महंगाई मई में  4.87 फीसदी पर पहुंच गई. अप्रैल महीने में यह 4.58 फीसदी रही थी. खुदरा महंगाई दर बढ़ने के लिए सब्ज‍ियों और दालों के दाम में बढ़ोतरी को वजह बताया गया है.महीने दर महीने के आधार पर मई में खाद्य थोक महंगाई दर 0.67 फीसदी से बढ़कर 1.12 फीसदी पर पहुंच गई.वहीं, मैन्युफैक्चर्ड प्रोडक्ट्स की थोक महंगाई की बात करें, तो महीने दर महीने के आधार पर इसमें भी बढ़ोतरी हुई है. यह 3.11 फीसदी से बढ़कर 3.73 फीसदी पर पहुंच गई है.प्राइमरी आर्ट‍िकल्स की थोक महंगाई को देखें, तो पिछले महीने इसमें भी भारी बढ़ोतरी देखने को मिली है. यह 1.41 फीसदी से बढ़कर 3.16 फीसदी रही है. वहीं, बिजली और ईंधन की थोक महंगाई महीने दर महीने आधार पर 7.85 फीसदी से बढ़कर 11.22 फीसदी पर पहुंच गई है.सब्जियों की बात करें, तो महीने दर महीने के आधार पर सब्जियों की थोक महंगाई दर -0.89 फीसदी से बढ़कर 2.51 फीसदी पर पहुंच गई है.वहीं, आलू की थोक महंगाई 67.94 फीसदी से बढ़कर 81.93 फीसदी पर पहुंची है. इस दौरान महीने दर महीने आधार पर मई में प्याज की थोक महंगाई दर 13.62 फीसदी से घटकर 13.20 फीसदी पर आ गई है.

Share This News :