Homeअपना शहर ,
सरकारी मेडिकल कॉलेज का स्टाफ हड़ताल पर, व्यवस्थाएं प्रभावित

 सातवें वेतनमान सहित 4 सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेशभर के सरकारी मेडिकल कॉलेज के स्टाफ सोमवार को हड़ताल पर चले गए हैं। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर में मेडिकल स्टाफ इस हड़ताल में शामिल हैं। इधर हड़ताल के बीच ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में हंगामा की स्थिति बन गई।

भोपाल के हमीदिया अस्पताल में हड़ताल के चलते मरीजोंं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। डॉक्टरों को छोड़कर यहां का पूरा मेडिकल स्टाफ इस हड़ताल में शामिल है। कर्मचारियों के मुताबिक दो दिनों तक ये हड़ताल 3-3 घंटे की रहेगी। हड़ताल के चलते मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पैथोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी व अन्य लैबों में जांच का काम रुक गया है जिसके चलते लंबी लाइन लग गई है। वहीं इमरजेंसी की सेवाएं भी प्रभावित हो रही हैं।

आपको बता दें कि ये मेडिकल कर्मचारी सातवें वेतनमान के अलावा करीब 20 साल की अवधि से ज्यादा पूरी कर चुके कर्मचारियों को समयमान वेतन, नर्सेस के इंक्रीमेंट की पुरानी लंबित मांग सहित अन्य मांगे हैं।

 

मेडिकल कर्मचारियों के मुताबिक उनका ये आंदोलन फिलहा 2 दिनों का है। अगल उनकी मांगे नहीं मानी गई तो कर्मचारी 23 जुलाई से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे।

इंदौर में प्रदर्शन

 

हड़ताल में इंदौर के एमवाय अस्पताल का मेडिकल स्टाफ भी शामिल है। सुबह से ही कर्मचारी एमवाय अस्पताल के गेट पर नारेबाजी कर विरोध कर रहे हैं। स्टाफ भी सातवें वेतनमान सहित अपनी पुरानी मांगों को लेकर हड़ताल कर रहा है। हालांकि मेडिकल स्टाफ का दावा है कि इमरजेंसी सेवाओं को हड़ताल से अलग रखा गया है जिससे गंभीर मरीजों को कोई परेशानी ना हो।

ग्वालियर में हंगामा

 

इधर ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल में हड़ताल के दौरान हंगामे की स्थिति बन गई। करीब 450 हड़ताली कर्मचारियों ने यहां अस्पताल में हंगामा किया। जिससे कुछ देर के लिए अस्पताल में अफरातफरी का माहौल हो गया। इन हड़ताली कर्मचारियों ने अधीक्षक कार्यालय घेराव कर दिया। कर्मचारी अपनी मांगों के संबंध में अस्पताल अधीक्षक से चर्चा करना चाहते थे।

 

 

 

Share This News :