Homeदेश विदेश ,
प्रणब के बाद संघ के मंच पर नजर आएंगे रतन टाटा

मुंबई। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बाद भारत के सबसे प्रतिष्ठित उद्योगपतियों में शुमार रतन टाटा अगले महीने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत के साथ मंच साझा करेंगे। संघ के प्रचारक रहे नाना पालकर के नाम पर एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) नाना पालकर स्मृति समिति (एनपीएसएस) ने 24 अगस्त को एक कार्यक्रम आयोजित किया है। इसी में टाटा ट्रस्ट के चेयरमैन और भागवत एक साथ मंच पर नजर आएंगे। समिति से जुड़े एक व्यक्ति के मुताबिक कार्यक्रम के लिए टाटा की अभी तक औपचारिक सहमति नहीं मिली है।

रतन टाटा की संघ प्रमुख भागवत से प्रस्तावित मुलाकात के बारे में जब टाटा ट्रस्ट के प्रवक्ता से पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी कहने से इन्कार कर दिया है। हालांकि यह जरूर कहा कि अगर ऐसा है तो यह रतन टाटा का व्यक्तिगत मसला है। वहीं समिति के एक सचिव ने एजेंसी को फोन पर बताया कि हमने अपने संस्थापक के शताब्दी वर्ष और एनजीओ की गोल्डन जुबली पर 24 अगस्त को आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि रतन टाटा को आमंत्रित करने के लिए संपर्क किया था, लेकिन न तो उन्होंने आमंत्रण स्वीकार किया है और न ही नकारा है। इसलिए हमें उम्मीद है कि वह जरूर आएंगे। यह कार्यक्रम मध्य मुंबई के माटुंगा में यशवंत नाट्य मंदिर में आयोजित किया जाएगा।

 

भागवत से पहले भी मिल चुके हैं टाटा

भागवत और रतन टाटा के बीच यह कोई पहली मुलाकात नहीं है। इससे पहले 29 दिसंबर, 2016 को अपने जन्मदिन पर रतन टाटा अचानक संघ मुख्यालय पहुंच गए थे। उस वक्त भी टाटा और भागवत के बीच लंबी बातचीत हुई थी। हालांकि उस समय टाटा के प्रवक्ता ने इसे शिष्टाचार मुलाकात बताया था।

 

समिति करती है कैंसर मरीजों की देखभाल

नाना पालकर स्मृति समिति का मुंबई स्थित टाटा कैंसर अस्पताल के पास ही कार्यालय है। टाटा के अस्पताल में इलाज के लिए आए मरीजों की देखभाल समिति की ओर से की जाती है। संघ से जुड़े पदाधिकारियों की मानें तो टाटा, समिति के कार्यालय में आ चुके हैं और वह उसके काम से भी भली प्रकार परिचित हैं

Share This News :