Homeदेश विदेश ,प्रमुख खबरे,
शरद यादव की कांग्रेस से अपील, बनाएं गैर-भाजपा दलों का गठबंधन, ताकि न हो वोटों का बंटवारा

देश की वर्तमान स्थित को 'अघोषित आपातकाल बताते हुए लोकतांत्रिक जनता दल के मार्गदर्शक एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद यादव ने आज कांग्रेस से अपील की है कि केन्द्र एवं राज्यों की भाजपा सरकारों को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए गैर-भाजपा दलों का गठबंधन बनाये, ताकि वोटों का बंटवारा न हो।
   
लोकतांत्रिक जनता दल मध्यप्रदेश द्वारा यहां आयोजित राज्य स्तरीय लोक क्रांति सम्मेलन को संबोधित करते हुए यादव ने कहा, ''भाजपा 31 प्रतिशत वोट प्राप्त कर राज कर रही है, क्योंकि 69 प्रतिशत वोट बिखरा पड़ा है। विपक्षी दलों में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है और भाजपा को हराने के लिए इसे गैर-भाजपा दलों को एक मंच पर लाने की जिम्मेदारी उठानी चाहिए।
   
बाद में संवाददाताओं ने जब उनसे सवाल किया कि क्या तीसरे मोर्चे का कांग्रेस के साथ मध्यप्रदेश में गठबंधन संभव है, इस पर यादव ने कहा, ''देश में भी गठबंधन होगा और हमारा प्रयास है कि यहां (मध्यप्रदेश) भी गठबंधन हो, और 15 साल से बड़-बड़ एवं झूठे वादे करने वाली (शिवराज सिंह चौहान की) सरकार एवं केन्द्र की मोदी सरकार चली जाय।
   
केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए शरद ने कहा कि देश में वर्तमान में भय का जो माहौल बना हुआ है, वह दिखाता है कि भारत में 'अघोषित आपातकाल लगा हुआ है।
उन्होंने कहा, ''यदि आपातकाल लगा है, तो इसे देखा जा सकता है। इसका सबको पता रहता है। लेकिन, यदि 'अघोषित आपातकाल लगा हो, तो यह आपातकाल से भी ज्यादा खतरनाक होता है।
  
मालूम हो कि मध्यप्रदेश में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं और भाजपा पिछले डेढ़ दशक से प्रदेश में सत्ता पर काबिज है। वहीं, अगले साल लोकसभा चुनाव भी होने हैं और भाजपा दुबारा सत्ता में आने के लिए ऐडी-चोटी का जोर लगा रही है।यादव ने कहा, ''मैंने ऐसी सरकार नहीं देखी है, जिसने साढ़े चार साल के कार्यकाल में तबाही की हो।
   
उन्होंने कहा कि भाजपा ने पिछले लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान युवाओं को हर साल दो करोड़ नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन इस सरकारी की नोटबंदी के पहल से कई लोग उल्टा बेरोजगार हो गये। चौहान की 'जन आशीर्वाद यात्रा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि यह यात्रा   जन आशीर्वाद यात्रा नहीं, बल्कि 'जन अभिशाप यात्रा है।   
 

Share This News :