Homeखेल ,
इंग्लैंड के हाथों हार के बाद कोहली ने बताया- क्यों मैच हार गई टीम इंडिया

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली की एक और संघर्षपूर्ण पारी आखिरकार व्यर्थ चली गई. वह दूसरे छोर से समर्थन न मिलने के कारण अपनी टीम को काफी प्रयासों के बाद भी यहां इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन में खेले गए पहले टेस्ट मैच में जीत नहीं दिला पाए.

इंग्लैंड ने एक छोर से लगातार विकेट लेकर कोहली की जुझारू पारी को जाया कर दिया और भारत को 31 रनों से मात देकर पांच मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली.

कप्तान कोहली ने पहले पारी में 149 रन जबकि दूसरी पारी में 51 रनों की पारी खेली थी. उन्हें छोड़कर कोई भी बल्लेबाज नहीं चल पाया.

हार के बाद कोहली ने कहा, ‘मेरा मानना है कि यह शानदार मैच था. इस तरह के रोमांचक टेस्ट मैच का हिस्सा बनने पर खुश हूं. कई अवसरों पर हमने वापसी की और जज्बा दिखाया. लेकिन इंग्लैंड ने कोई रहम नहीं दिखाया. उसने हमें एक एक रन के लिए संघर्ष कराया. इससे हमें अहसास हो गया कि हमें सीरीज में आगे क्या करना है.’

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘शॉट का हमारा चयन बेहतर हो सकता था. हमें निश्चित तौर पर बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत है, लेकिन इंग्लैंड ने बेहतरीन वापसी की और हमें इस मैच से सकारात्मक पक्षों पर गौर करके आगे बढ़ना होगा.’

दूसरा टेस्ट मैच लार्ड्स में नौ अगस्त से शुरू होगा. कोहली ने निचले क्रम के बल्लेबाजों की तारीफ की और कहा कि भारत को सीरीज में वापसी करने के लिए निर्भीक होकर खेलना होगा.

उन्होंने कहा, ‘पहली पारी में निचले क्रम के प्रदर्शन से काफी कुछ सीखा जा सकता है. ईशांत और उमेश क्रीज पर जमे रहे. ईशांत ने जज्बा दिखाया. उमेश ने फिर हार्दिक के साथ भी समय बिताया.’

कोहली ने कहा, ‘हमें सकारात्मक, निष्ठुर बने रहना होगा. हमें नकारात्मक बातों को दिमाग में नहीं लाना होगा और सकारात्मक चीजों के सहारे आगे बढ़ना होगा.’

पहली पारी के अपने शतक के बारे में कोहली ने कहा, ‘टीम के लिहाज से तो शतक ने अपना काम किया. यह मेरा एडिलेड के बाद दूसरा सर्वश्रेष्ठ शतक है जिसे मैं याद रखूंगा. जब आप अपनी टीम को करीब ले जाते हो तो अच्छा लगता है.’

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट ने जीत का श्रेय गेंदबाजों का दिया. उन्होंने कहा, ‘मैं थोड़ा रोमांचित हूं. उतार चढ़ाव के बावजूद यह टीम की तरफ से शानदार प्रदर्शन था. श्रेय निश्चित तौर पर गेंदबाजों को जाता है. बल्लेबाजों की आलोचना करना आसान होता है. हम जानते थे कि अगर हम शांतचित होकर खेलते हैं तो हमारे पास जीत का मौका रहेगा.’

रूट ने सैम कुरेन की तारीफ की जिन्होंने दूसरी पारी में 65 गेंदों पर 63 रन बनाए. कुरेन को 'मैन ऑफ द मैच' चुना गया. इंग्लैंड के कप्तान ने कहा, ‘सैम कुरेन प्रतिभाशाली है. वह उदीयमान क्रिकेटर है. लग रहा था कि बल्लेबाजी करते हुए उस पर किसी तरह का दबाव नहीं था. हमें खुशी है कि वह हमारी टीम में है. यह टीम में दो बेन स्टोक्स के होने जैसा है. उससे हमें काफी संभावनाएं हैं.’

Share This News :