Homeवायरल न्यूज़,
खंडग्रास सूर्यग्रहण ,शनिचरी व हरियाली अमावस्या आज, देश-दुनिया में ऐसा हो सकता है असर

 पिछले माह 13 जुलाई को खंडग्रास सूर्यग्रहण व 27 जुलाई को खग्रास चंद्रग्रहण के बाद अब एक महीने की समयावधि में तीसरा ग्रहण पड़ने जा रहा है। एक बार फिर खंडग्रास सूर्यग्रहण 11 अगस्त को पड़ रहा है।

शनिचरी व हरियाली अमावस्या के अवसर पर श्लेशा नक्षत्र कर्क राशि में पड़ने वाला यह सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा लेकिन इसका आंशिक प्रभाव रहेगा।

 सूर्य ग्रहण उत्तरी अमेरिका, उत्तरी यूरोप, रूस, चीन, मंगोलिया आदि देशों में पड़ेगा।

ग्रहण का प्रांरभ भारतीय समयानुसार दोपहर 1.31 बजे ग्रीनलैण्ड से होगा वहीं मोक्ष शाम 5 बजे चीन के पूर्वी भाग में होगा। खंडग्रास सूर्यग्रहण की कुल अवधि 3 घंटे 28 मिनट की रहेगी।

 एक महीने में तीसरा ग्रहण पड़ना ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अशुभकारी होता है। यह पृथ्वी के लिए खतरे की घंटी होता है क्योंकि इसे बाढ़, भूकंप व अन्य प्राकृतिक आपदाओं की आशंका बढ़ जाती है।

ज्योतिष के मुताबिक यह ग्रहण भारत में भी धार्मिक उन्माद की परिस्थितियां पैदा कर सकता है, साथ ही राजनेताओं के लिए यह ग्रहण अशुभकारी सिद्ध हो सकता है।

हालांकि भारत में ग्रहण के दिखाई न देने के कारण हरियाली अमावस्या एवं शनिचरी अमावस्या के पर्व पर कोई धार्मिक प्रभाव नहीं पड़ेगा।

 

Share This News :