Homeदेश विदेश ,खास खबरे,
चीफ जस्टिस मिश्रा ने जस्टिस गोगोई को उत्तराधिकारी चुना, उन्हें मुख्य न्यायाधीश बनाने की केंद्र को सिफारिश भेजी

नई दिल्ली. जस्टिस रंजन गोगोई (63) सुप्रीम कोर्ट के अगले मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) होंगे। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने मंगलवार को केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर जस्टिस गोगोई के नाम की सिफारिश की। जस्टिस गोगोई फिलहाल जजों के वरिष्ठता क्रम में सबसे आगे हैं। जस्टिस गोगोई को तीन अक्टूबर को सीजेआई पद की शपथ दिलाई जाएगी। वे 17 नवंबर 2019 को रिटायर होंगे।

चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा दो अक्टूबर को रिटायर हो रहे हैं। इस दिन गांधी जयंती होने की वजह से अवकाश रहेगा। इस वजह से एक अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट में उनका अंतिम कामकाजी दिन होगा।

सरकार ने उत्तराधिकारी का नाम पूछा था: पिछले दिनों सीजेआई की नियुक्ति के लिए कानून मंत्रालय ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा को चिट्ठी भेजी थी, जिसमें उनसे उत्तराधिकारी का नाम पूछा गया। शीर्ष अदालत की परंपरा के मुताबिक, रिटायरमेंट से एक महीने पहले सीजेआई को सबसे वरिष्ठ जज का नाम सरकार को भेजना होता है।

2012 में सुप्रीम कोर्ट में जज बने: जस्टिस गोगोई 28 फरवरी 2001 को गुवाहाटी हाईकोर्ट में जज बने थे। इसके बाद 12 फरवरी 2011 को पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त हुए। बाद में उन्हें अप्रैल 2012 में सुप्रीम कोर्ट में जज बनाया गया। यहां वे असम के एनआरसी, सरकारी विज्ञापनों के लिए निर्देश, लोकपाल-लोकायुक्तों की नियुक्ति जैसे अहम मुद्दों की सुनवाई से जुड़े रहे हैं। जस्टिस रंजन गोगोई असम के रहने वाले हैं। उनके पिता केसी गोगोई 1982 में डिब्रूगढ़ से कांग्रेस के विधायक थे।

Share This News :