Homeअपना मध्यप्रदेश,
सांसद को पसंद नहीं आयी 'ट्रेन में मसाज', रेल मंत्री को लिखी चिट्ठी

इंदौर सांसद शंकर लालवानी को ट्रेन में मसाज का आइडिया पसंद नहीं आया. उन्हे ये इतना नागवार गुज़रा कि उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल को चिट्टी लिखकर इस पर आपत्ति जता दी.
रेलवे ट्रेनों में मसाज की सुविधा शुरू कर रहा है. इंदौर से चलने वाली 39 ट्रेनों से इसकी शुरुआत होना है. लेकिन उससे पहले ही इंदौर के सांसद शंकर ललवानी ने इस पर घोर आपत्ति जता दी. उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल को चिट्ठी लिखी है. इसमें ट्रेन में यात्रियों के लिए मसाज शुरू करने पर आपत्ति जताई है.
 चिट्ठी का मजमून-लालवानी ने लिखा कि ट्रेनों में इस तरह की स्तरहीन व्यवस्था का कोई औचित्य नहीं है.इसकी जगह मेडिकल,डॉक्टर और दूसरी यात्री सुविधाएं उपलब्ध करवाना चाहिए. लालवानी ने पत्र में लिखा मुझे आश्चर्य है कि चलती गाड़ियों में यात्री, विशेषकर महिलाओं के सामने इस प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाना क्या भारतीय संस्कृति के मानकों के अनुरूप होगा.


सांसद की सलाह-इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने लिखा, रेलवे पहले यात्रियों को बैठने,महिलाओं के लिए फीडिंग रूम और डॉक्टर्स की सुविधाएं उपलब्ध कराए. मसाज की सुविधा पर्यटक ट्रेनों में होनी चाहिए.पैसेंजर ट्रेनों में इसे लागू नहीं करना चाहिए.पैसेंजर ट्रेनों में यात्रियों के खड़े रहने तक की जगह नहीं होती. ऐसे में मसाज कहां होगी,ये सोचने वाली बात है.

रेलवे सदस्य भी हैरान-रेलवे सलाहकार समिति से जुड़े सदस्यों ने भी इस पर नाराज़गी ज़ाहिर की है. इंदौर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म-5 और 6 पर मसाज सेंटर बनने वाला है. सदस्यों ने इसका विरोध किया है. उन्होंने कहा रेलवे को तत्काल इस निर्णय को वापस लेना चाहिए.

Share This News :