Homeअपना शहर ,
रिटायर्ड एसडीओ समेत 6 के खिलाफ एफआईआर, यह है मामला

गुना। शहर की दुर्गा कॉलोनी में रैनबसेरा के नाम चार लाख स्र्पए के भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। रैन बसेरा और उसमें कोटा स्टोन व पुताई के लिए विधायक निधि से तत्कालीन विधायक व वर्तमान में भाजपा के गुना नपा अध्यक्ष राजेंद्र सिंह सलूजा ने स्र्पए दिए थे। लेकिन मौके पर रैन बसेरा नहीं बनाया गया, बल्कि सनाढ्य धर्मशाला का निर्माण हुआ। जबकि पीडब्ल्यूडी ने रैन बसेरा के निर्माण का प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया।

शिकायत मिलने के बाद डिप्टी कलेक्टर नेहा सोनी ने जांच की। इस आधार पर शुक्रवार-शनिवार रात को सिटी कोतवाली पुलिस ने तत्कालीन विधायक और वर्तमान नपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह सलूजा समेत आरईएस के रिटायर्ड एसडीओ व अन्य अधिकारियों पर धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

यह है पूरा मामला 

गुना के तत्कालीन विधायक राजेंद्र सिंह सलूजा ने 10 अक्टूबर 2009 को दुर्गा कॉलोनी में रैन बसेरा निर्माण के लिए अपनी निधि से दो लाख स्र्पए देने की अनुशंसा की थी। तीन मई 2011 को तत्कालीन विधायक सलूजा ने इसी भवन की पुताई व कोटा स्टोन लगाए जाने के लिए भी दो लाख स्र्पए देने की अनुशंसा कर दी।

विधायक की अनुशंसा के बाद योजना एवं सांख्यिकी विभाग द्वारा यह राशि लोक निर्माण विभाग को उक्त कार्य कराने के लिए दी गई। पीडब्ल्यूडी कार्यपालन यंत्री ने कार्य पूरा बताकर प्रमाण पत्र दे दिया। दुर्गा कॉलोनी निवासी कोमलप्रसाद शाक्य ने मामले की शिकायत कलेक्टर से की। उन्होंने कहा कि मौके पर रैन बसेरा का निर्माण नहीं किया गया है। कलेक्टर ने इसकी जांच डिप्टी कलेक्टर नेहा सोनी से कराई।

रैन बसेरा की जगह बनाई धर्मशाला 

पूरे प्रकरण की जांच की। जांच में सामने आया कि रैन बेसरा मौके पर नहीं बनाया गया, बल्कि इसके स्थान पर सनाढ्य धर्मशाला बनाई गई। अधिकारियों ने भी फर्जीवाड़ा करते हुए रैन बसेरा निर्माण की ही जानकारी दी। डिप्टी कलेक्टर ने जांच रिपोर्ट कलेक्टर को दी, जिसके बाद कलेक्टर ने एफआईआर के लिए एसपी को पत्र लिखा। इस पत्र के आधार पर सिटी कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

इनके खिलाफ एफआईआर दर्जजिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी महेंद्र कुमार नबैया की शिकायत पर पुलिस ने नपाध्यक्ष राजेंद्र सलूजा पूर्व विधायक व गुना के वर्तमान, विनोद बिहारी सक्सेना सेवानिवृत्त एसडीओ आरईएस उपसंभाग गुना, अस्र्ण भारद्वाज सब इंजीनियर आरईएस गुना, आरके अहिरवार पीआईयू रीवा, प्रदीपकुमार सक्सेना पीआईयू संभाग भोपाल व एसके शोरी उपयंत्री लोकनिर्माण विभाग संभाग गुना के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

Share This News :