Homeअपना मध्यप्रदेश,
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को लेकर घमासान

 भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के निर्वाचन से पहले पार्टी महासचिव राममाधव और प्रवक्ता विजय सोनकर शास्त्री ने अपनी रायशुमारी पूरी कर ली है। मध्यप्रदेश के कोर गु्रप के नेताओं से उन्होंने इंदौर, देवास और दिल्ली में अलग-अलग बातचीत की। पार्टी सूत्रों का कहना है कि उनकी रायशुमारी लगभग पूरी हो चुकी है। उनके भोपाल आने का फिलहाल कोई कार्यक्रम नहीं है। बताया जा रहा है कि वे जल्द ही अपनी रिपोर्ट हाईकमान को सौंपेंगे।उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि प्रदेश अध्यक्ष और दावेदारों को लेकर घमासान    छिड़ा  हुआ है। पार्टी नेताओं का मानना है कि शुक्रवार को संसद सत्र खत्म होने के बाद हाईकमान राममाधव व अन्य नेताओं से बातचीत कर सकता है। दूसरी खास बात यह है कि अब तक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता भी नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर रणनीति तय नहीं कर पा रहे हैं। संघ की सिफारिश के बाद ही प्रदेश अध्यक्ष के निर्वाचन की तारीख तय होगी। हालांकि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ लंबे वक्त से सामंजस्य स्थापित कर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के लिए नेता चुनने का प्रयास कर रहा है।पार्टी ने संगठन चुनाव के दो चरण में अब तक 33 जिलाध्यक्षों के नाम घोषित कर दिए हैं। वहीं, 900 के लगभग मंडल अध्यक्ष का निर्वाचन किया जा चुका है। दोनों ही चुनाव में पार्टी ने उम्र सीमा तय करके रखी थी, जिस कारण माना जा रहा है कि नया प्रदेशाध्यक्ष भी युवा ही होगा। ऐसे में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की धड़कनें बढ़ी हुई है, जो प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद के लिए लामबंदी में लगे हुए हैं।

Share This News :