Homeराज्यो से ,
प्रदर्शन पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - अनंतकाल तक नहीं हो सकता प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन कानून CAA के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में 58 दिनों से विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रदर्शनकारी सड़क पर रास्ता रोककर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस वजह से लगभग दो महीनों से कालिंदी कुंज-शाहीन बाग सड़क बंद है। आम जनता को हो रही परेशानी के मद्देनजर सुप्रीम कोर्ट में प्रदर्शनकारियों को सड़क से हटाए जाने की मांग को लेकर दायर याचिकाओं पर आज सुनवाई की गई। सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अनंत काल तक प्रदर्शन नहीं हो सकता। कोर्ट ने दिल्ली पुलिस और सरकार से इस मामले में एक हफ्ते में जवाब भी मांगा है। अगली सुनवाई अब 17 फरवरी को होगी। कोर्ट ने शाहीनबाग मामले में फिलहाल कोई अंतरिम आदेश नहीं दिया है।

3 याचिकाओं पर सुनवाई के साथ ही प्रदर्शन के दौरान मासूम की मौत के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट खुद संज्ञान लेकर इस पर सुनवाई हुई।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मतदान के पूर्व इन याचिकाओं को दायर किया गया था, जिस पर कोर्ट ने चुनाव बाद सुनवाई किए जाने का कहा था। बीते शुक्रवार को शीर्ष कोर्ट ने कहा था कि विरोध प्रदर्शन की वजह से सड़क बंद होने की समस्या को वह समझते हैं। जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस के एम जोसेफ की डबल बेंच ने कहा था 'हम समझते हैं कि समस्या क्या है। अब हमारे सामने सवाल यह है कि हम इसे कैसे हल करते हैं?'

 

CAA के विरोध में हो रहा हंगामा

केंद्र सरकार द्वारा नागरिकता संशोधन कानून CAA लागू करने के बाद से ही देशभर में हंगामा होना शुरू हो गया था। इसका केंद्र दिल्ली का शाहीन बाग बन चुका है। कानून के विरोध के बहाने राजनीतिक रोटियां भी जमकर सेकी जा रही है। विपक्ष के हाथ भी सरकार को घेरने का यह बड़ा मुद्द लग गया है। ऐसे में देश की संसद द्वारा कानून बनाए जाने के बाद भी विपक्ष इसे वापस लेने के लिए लगातार दबाव बना रहा है।

 

मुस्लिम संगठन भी इसे लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि केंद्र सरकार लगातार साफ कर चुकी है कि इस कानून से भारत में रहने वाले किसी भी नागरिक पर किसी भी तरह का संकट नहीं आएगा। बावजूद इसके अब तक सरकार अपनी बात लोगों को समझाने में नाकाम रही है।

Share This News :