Homeखास खबरे,वायरल न्यूज़,
15 साल बाद होंगे यहां शिव के दर्शन

धार। नर्मदा के जल स्तर में भारी गिरावट के चलते हिरण्यकश्यप की तपस्थली हरणफाल में 15 साल से डूबा शिव मंदिर शनिवार को भूतड़ी अमावस्या पर हजारों श्रद्धालुओं को नजर आएगा। रंगरोगन कर आयोजन की तैयारी पूरी हो गई है।

डही से करीब 15 किमी दूर धरमराय के ऐतिहासिक नर्मदा तट स्थित धार्मिक स्थल हरणफाल में धार, बड़वानी, खरगोन, आलीराजपुर जिले के श्रद्धालु पहुंचेंगे। नर्मदा स्नान के बाद पूजन-अर्चन के साथ ही दान-पुण्य का दौर चलेगा। यहां से श्रद्धालु कलशों में नर्मदा का जल भरकर अपने साथ ले जाएंगे। श्रद्धालु इस पानी से गणगौर की पूजा-अर्चना करते हैं।

इस स्थान का पौराणिक महत्व भी है। बताया जाता है कि हरणफाल को हिरण्यकश्यप ने बसाया था। उसने यहां शिव मंदिर का निर्माण कर भगवान शिव की कड़ी तपस्या की थी। राजा धर्मराज ने भी यहां तपस्या की थी। उन्हीं के नाम से धरमराय गांव का नाम पड़ा।

सालों से यहां आने वाले कई श्रद्धालुओं ने बताया हर चट्टान पर शिवलिंग थे। शिव मंदिर के पास गंगा-जमुना नामक दो कुंड भी हैं, लेकिन ये पानी में डूबे हुए थे। यहां कई ऐतिहासिक धरोहरें जीर्ण-शीर्ण पड़ी हुई हैं।

Share This News :