Homeराज्यो से ,खाना खजाना ,slider news,
500 रुपए तक सस्ता हो जाएगा प्रीमियम ट्रेनों का किराया

 रेलवे ने एक अगस्त से ट्रेनों में कैटरिंग शुल्क की बाध्यता समाप्त कर दी है। एेसे में राजधानी, दूरंतो और शताब्दी का सफर मंगलवार से सस्ता हो जाएगा। यदि आप ट्रेन का खाना और नाश्ता नहीं लेंगे तो राजधानी, दूरंतो और शताब्दी एक्सप्रेस का किराया अलग-अलग रूटों पर लगभग 500 रुपए तक कम हो जाएगा। रेलवे की खानपान व्यवस्था पर कैग रिपोर्ट में उठे सवालों के बाद रेलवे ने नई व्यवस्था लागू की है। अब यदि आप ट्रेन में खाना, पानी और नाश्ता नहीं लेना चाहते हैं तो रेलवे आपको बाध्य नहीं करेगा। अभी राजधानी, दूरंतो और शताब्दी में नहीं चाहते हुए यात्रियों से कैटरिंग शुल्क के रूप में चार्ज लिया जाता है। इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी कर दिए हैं।  तीनों प्रीमियम ट्रेनों की खानपान की व्यवस्था आइआरसीटीसी को सौंप दी गई है।राजधानी, दूरंतो और शताब्दी में बुकिंग काउंटर से रिजर्वेशन लेते समय ही यात्रियों से पूछा जाएगा कि उन्हें ट्रेन पर कैटरिंग की सुविधा चाहिए या नहीं। अभी रिजर्वेशन कार्यालय से टिकट बुक करने पर ही यह सुविधा मिल रही है। आइआरसीटीसी की साइट से ऑनलाइन टिकट बुक कराने पर अभी भी कैटरिंग का शुल्क देना अनिवार्य है। माना जा रहा है कि एक-दो दिनों में ऑन लाइन टिकट बुकिंग में भी कैटरिंग की अनिवार्यता को समाप्त कर विकल्प दिए जाएंगे।अगर उदाहरण के तौर लें तो हावड़ा और सियालदह राजधानी में नई दिल्ली से टिकट बुकिंग पर 265 रुपए कैटरिंग चार्ज के रूप में लिया जाता है। वहीं, फर्स्ट क्लास में यह शुल्क 305 रुपए है। इसी तरह मुंबाई राजधानी में थर्ड और सेकंड एसी में 295 और फस्ट एसी में 340 रुपए लिया जाता है। वहीं, हजरत निजामुद्दी से चेन्नई जाने वाली राजधानी में सेकंड व थर्ड एसी में 435 और फस्ट एसी में 495 रुपए तक कम हो जाएगा। 

Share This News :